Thursday, March 5, 2009

आज अमर उजाला में औरतनामा



कहीं लव ऐपल, कहीं इत्र की होली
* अमरीका में 31 अक्तूबर को सूर्य पूजा की जाती है. इसे होबो कहते हैं. इसे होली की तरह
मनाया जाता है. इस अवसर पर लोग फूहड वेशभूषा धारण करते हैं.
* नार्वे, स्वीडन में सेंट जान का पवित्र दिन होली की तरह मनाया जाता है. शाम को पहाड़ी पर होलिका दहन की तरह लोग आग जलाकर नाचते गाते हैं.
* इंग्लैंड में मार्च के अंतिम दिनों में लोग अपने मित्रों और संबंधियों को रंग भेंट करते हैं ताकि उनके जीवन में रंगों की बहार आए.
* थाईलैंड में तेरह अप्रैल को नव वर्ष 'सौंगक्रान' प्रारंभ होता है. इसमें वृद्धजनों के हाथों इत्र मिश्रित जल डलवाकर आशीर्वाद लिया जाता है.
* लाओस में यह पर्व नववर्ष की खुशी के रूप में मनाया जाता है. लोग एक-दूसरे पर पानी डालते हैं. म्यांमर में इसे जल पर्व के नाम से जाना जाता है.
* जर्मनी में ईस्टर के दिन घास का पुतला बनाकर जलाया जाता है. लोग एक दूसरे पर रंग डालते हैं. हंगरी का ईस्टर होली के अनुरूप ही है.
* अफ्रीका में 'ओमेना वोंगा' मनाया जाता है. इस अन्यायी राजा को लोगों ने ज़िंदा जला डाला था. अब उसका पुतला जलाकर नाच गाने से खुशी व्यक्त करते हैं.
* अफ्रीकी देशों में 16 मार्च को सूर्य का जन्म दिन मनाया जाता है. लोगों का विश्वास है कि सूर्य की सतरंगी किरणों को निहारने से उनकी आयु बढ़ती है.
* पोलैंड में 'आर्सिना' पर लोग रंग और गुलाल मलते हैं. यह रंग फूलों से निर्मित होने के कारण काफ़ी सुगंधित होता है. लोग परस्पर गले मिलते हैं.
* अमरीका में 'मेडफो' नामक पर्व मनाने के लिए लोग नदी के किनारे एकत्र होते हैं और गोबर तथा कीचड़ से बने गोलों से एक दूसरे पर आक्रमण करते हैं.
* चेक, स्लोवाक क्षेत्र में बोलिया कोनेन्से त्योहार पर युवा लड़के-लड़कियाँ एक दूसरे पर पानी एवं इत्र डालते हैं. हालैंड का कार्निवल होली सी मस्ती का पर्व है.
* बेल्जियम की होली भारत सरीखी होती है और लोग इसे मूर्ख दिवस के रूप में मनाते हैं. यहाँ पुराने जूतों की होली जलाई जाती है.
* इटली में रेडिका त्योहार एक सप्ताह तक मनाया जाता है. लकड़ियों के ढेर चौराहों पर जलाए जाते हैं. लोग परिक्रमा, आतिशबाजी करते हैं. गुलाल लगाते हैं.
* रोम में इसे सेंटरनेविया कहते हैं तो यूनान में मेपोल. ग्रीस का लव ऐपल होली भी प्रसिद्ध है. स्पेन में लाखों टन टमाटर एक दूसरे को मार कर होली खेलते हैं.
* जापान में 16 अगस्त की रात को टेमोंजी ओकुरिबी नामक पर्व पर कई स्थानों पर तेज़ आग जला कर यह त्योहार मनाया जाता है.
* चीन में होली की शैली का त्योहार च्वेजे है. यह पंद्रह दिन तक मनता है. लोग आग से खेलते हैं और अच्छे परिधानों में सज धज कर परस्पर गले मिलते हैं.
* साईबेरिया में घास फूस और लकड़ी से होलिका दहन जैसी परंपरा है.

3 comments:

Udan Tashtari said...

बहुत जानकारियाँ दी. बहुत बहुत आभार.

रंजना [रंजू भाटिया] said...

वाह होली के रंग हर देश के बहुत बढ़िया लगी यह जानकारी

pankaj vyas said...

aapane jo gyan vardhak jankari di pasand aayi.

yaha jankari sabko milen is liyen Ratlam, Jhabua(M.P.), dahod(gujarat) se prakasit Dainik Prasaran me ise prakashit karane ja rahhn hoon.

kripaya, aap apana postal address mujyen send karen, taki aapko prati pahoochayi ja sakan.

pan_vya@yahoo.co.in